यूनेस्को ने नए नोट को बताया दुनिया में सबसे बेस्ट और साथ ही ये भी कहा जा रहा है ये नए नोट दुनिया की बेस्ट करेंसी है। लेकिन सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही इस खबर में कितना सच है इस बात को जानना आपके लिए बेहद जरूरी है।

Also Read:   हवलदार को वर्दी की धौंस दिखाना पड़ा महंगा, दुकानदार ने जमकर धोया

दरअसल सरकार के नोटबंदी के फैसले और 2000 के नए नोट आने के बाद से तरह-तरह के झूठ वायरल हो रहे हैं। इस कड़ी में ताजा झूठ यूनेस्को से जुड़ा हुआ है। दरअसल सोशल मीडिया में ये अफवाह उड़ाई जा रही है कि 2000 की नई करेंसी को दुनिया की बेस्ट करेंसी डिक्लेयर किया है।

Also Read:   महिला को बेड पर कैसे करें संतुष्ट!

सोशल मीडिया में फैली ये अफवाह बिल्कुल झूठ है। दरअसल यूनेस्को के पास किसी भी चीज को बेस्ट डिक्लेयर करने का हक ही नहीं है। नए नोटों के बारे में यह अफवाहें चली थीं कि उनमें नैनो चिप लगे हैं, लेकिन भारतीय रिजर्व बैंक ने ट्वीट कर साफ कर दिया है कि ये गलत खबरें हैं। इसके अलावा नोट मिसप्रिंट होने की अफवाह उड़ी थी। ये अफवाह भी झूठी निकली। नोटों को बाजार में जारी करने से पहले 6 महीने तक आरबीआई ने उनकी जांच की गई।

Also Read:   लोगों ने किया 2000 के नोट पर गलतियों का दावा, क्या है हकीकत
1 2
No more articles