साइट पर मिलने वाले कैशबैक पर लगेगा टैक्स। देश के फाइनैंशल कैपिटल के एक सीनियर बैंकर को इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का लेटर मिला, जिसमें लिखा था कि डिपार्टमेंट उनके अकाउंट की जांच करना चाहता है। लेटर मिलने पर उन्होंने अपने चार्टर्ड अकाउंटेंट (सीए) से संपर्क किया। उनके बहीखातों की पड़ताल में 1,500 रुपये की रकम पाई गई, जिसका जिक्र रिटर्न में नहीं हुआ था।

Also Read:   जाने क्या है इमोशनल अब्यूज होने के लक्षण

कैशबैक आमतौर पर खरीदारी पर डिस्काउंट के तौर पर लिया जाता है, लेकिन कई मामलों में खासतौर पर बिजनस ट्रांजैक्शन में खास पेमेंट के लिए बैंक अकाउंट में डायरेक्ट क्रेडिट कर दिया जाता है। हालांकि, कैशबैक की रकम आमतौर पर बहुत कम होती है, इसलिए ज्यादातर मामलों में वह दिमाग से निकल जाती है। कैशबैक की कुल रकम पर नजर रखना कन्ज्यूमर के लिए फायदेमंद हो सकता है।’

Also Read:   आने वाले त्यौहारों के दौरान जीरो कॉस्ट EMI पर करें शॉपिंग

बैंकर ने पहचान जाहिर नहीं किए जाने की शर्त पर बताया, ‘यह रकम मुझे अपने डेबिट कार्ड के जरिए हुए किसी ट्रांजैक्शन के लिए कैशबैक के तौर पर मिली थी। रकम इतनी छोटी थी कि इस पर मेरी नजर नहीं गई, लेकिन मुझे इसके लिए इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का नोटिस मिल गया।

Also Read:   बिना हाथों के ये महिला उड़ाती है विमान, सीखती है कराटे, देखें वीडियो
1 2
No more articles