रेल यात्रा के लिए ऑनलाइन टिकट बुक कराने पर यात्रियों को 1 सितंबर से 10 लाख रुपये तक का यात्रा बीमा कवर मिलेगा। इसके लिए यात्रियों को एक रुपये से भी कम का प्रीमियम भुगतान करना होगा। 1 सिंतबर से आईआरसीटीसी की वेबसाइट के जरिये यात्रा का टिकट बुक कराने पर यात्रियों को यात्रा बीमा कवर का विकल्प मिलेगा। इसके लिए उन्हें सिर्फ 92 पैसे का प्रीमियम देना होगा।

भारतीय रेलवे ने अपने यात्रियों के लिए 17 कंपनियों में सी तीन इंश्योरेंस कंपनियों- श्रीराम जनरल इंश्योरेंस, आइसीआइसीआइ लोंबार्ड जनरल इंश्योरेंस व रॉयल सुंदरम जनरल इंश्योरेंस का चुनाव किया है।
दुनिया में यह सबसे सस्ता बीमा कवर है जिसके लिए यात्रियों मात्र 92 पैसे का प्रीमियम देना होगा और यह 10 लाख रुपये का यात्रा बीमा कवर करेगा।

रेलवे की वेबसाइट से रेल टिकट बुक करते समय यात्रियों को स्कीम का चुनाव करना होगा और इसके लिए मात्र 92 पैसे का भुगतान करना होगा। इस स्कीम के तहत यात्रियों को रेल दुर्घटना में मौत या पूर्ण विकलांगता पर 10 लाख, आंशिक विकलांग होने की स्थिति में 7.5 लाख रुपये और हॉस्पिटलाइजेशन के खर्च के लिए 2 लाख रुपये तक दिए जाएंगे। पायलट प्रोजेक्ट के रूप में फिलहाल एक साल के लिए लागू इस स्कीम का फायदा यात्रियों को ट्रेन में आतंकी हमला, डकैती, गोलीबारी और आगजनी की घटनाओं पर भी होगा।
शुरुआत में यात्रा बीमा की यह योजना ऑनलाइन टिकट बुक कराने वालों के लिए ही होगी। बाद में मासिक टिकट (एमएसटी) पर चलने वाले यात्रियों को भी यह सुविधा मिलेगी।

Also Read:   भट्ट कैंप की नई हॉरर फिल्म, रोंगटे खड़े कर देगा राज रिबूट का ये ट्रेलर

भारतीय रेल खानपान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक ए के मनोचा ने बताया, ‘यह दुनिया का सबसे सस्ता बीमा है। किसी भी श्रेणी का टिकट हो, कहीं भी जाना हो और कितनी भी दूर जाना हो, प्रीमियम और बीमा की रकम एक जैसी ही रहेगी।‘ उन्होंने बताया कि शुरुआत में यह बीमा आईआरसीटीसी की वेबसाइट से ऑनलाइन टिकट खरीदने वालों को मिलेगा। वे टिकट खरीदते समय किसी व्यक्ति को अपना नॉमिनी बना सकते हैं। बाद में अनारक्षित टिकट आौर मासिक टिकट पर यात्रा करने वालों को भी इस बीमा के दायरे में लाया जा सकता है।

Also Read:   देश की दूसरी हमसफर को मिली प्रभू की हरी झंडी

बीमा के अंतर्गत ये घटनाएं हैं शामिल यदि मुसाफिर की मौत हो जाती है या वह स्थायी विकलांग हो जाता है तो उसे 10 लाख रुपये दिए जाएंगे। स्थायी आंशिक विकलांगता पर 7.5 लाख रुपये तथा अस्पताल के खर्च के रूप में 2 लाख रुपये तक दिए जाएंगे। रेल दुर्घटना में मारे गए मुसाफिर का शव घर तक पहुंचाने के लिए 10,000 रुपये दिए जाएंगे। वहीं ट्रेन पर आतंकी हमला होने और किसी यात्री के दुर्घटनावश गिरने पर भी बीमा का लाभ मिलेगा। सामान्य दुर्घटना, दंगे, लूट और डकैती भी इसके दायरे में आएंगे। चुनी गई तीनों कंपनियों को ऑटोमैटिक प्रणाली के तहत बारी-बारी से बीमा करने का मौका मिलेगा। इंश्योरेंस कंपनियों ने लगाई थी बोली इस टेंडर में श्री राम जनरल इंश्योरेंस कंपनी ने सबसे कम 92 पैसे की बोली लगाई थी। आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस कंपनी ने 99 पैसे और रॉयल सुंदरम जनरल इंश्योरेंस ने 1.15 रुपये की बोली लगाई। आईसीआईसी लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस कंपनी और रॉयल सुंदरम जनरल इंश्योरेंस को अपनी बोली घटाकर 92 पैसे करनी होगी। हैदराबाद के इंश्योरेंस ब्रोकिंग हाउस इंडिया इंश्योर के संस्थापक वी रामकृष्ण ने कहा, ‘इसे सबसे सस्ती यात्रा बीमा योजना बताने वाले आंकड़े तो नहीं हैं। लेकिन इतना तय है कि वैश्विक बाजार के हिसाब से प्रीमियम बहुत कम है। विमान यात्रा में 75 लाख रुपये तक का बीमा होता है, लेकिन प्रीमियम भी 2,000 से 3,000 रुपये के बीच होता है।’ हवाई यात्रा में 1 लाख रुपये के लिए न्यूनतम प्रीमियम 26 रुपये होता है, लेकिन इस रेल बीमा में 9.5 पैसे ही होगा। विशेषज्ञ इस बात पर संदेह जता रहे हैं कि इतना कम प्रीमियम बीमा कंपनियों के लिए व्यावहारिक होगा या नहीं। फिलहाल 59 फीसदी रेल टिकट ऑनलाइन बुक होते हैं। आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर रोजाना औसतन 32 लाख बार लॉगइन किया जाता है और हर दिन करीब 10 लाख यात्रियों के लिए औसतन 5.5 लाख टिकट बुक होते हैं।

Also Read:   इस एक्ट्रेस की हसीन अदाओं के सामने कटरीना भी मांगें पानी, देखिए एक झलक
No more articles