बॉयफ्रैंड के चक्कर में पति से लेना चाहती थी तलाक, कोर्ट ने लगाया जुर्माना

poster-bombay-hc

मुंबई के बोरिवली में रहने वाली एक महिला की बॉम्‍बे हाईकोर्ट ने तलाक की अर्जी खारिज कर दी है। महिला ने कोर्ट से ये तथ्‍य छुपाया कि वह किसी और पुरुष के साथ रहती है और उस रिश्‍ते से उसे एक बच्‍चा भी है।

न्‍यायमूर्ति अभय ओका और अमजद सैयद की खंडपीठ ने फैमिली कोर्ट के आदेश को बरकरार रखते हुए महिला पर 50 हजार रुपए जुर्माना लगाया गया जो कि क्रूरता और परित्‍याग के आधार पर पति से तलाक मांग रही थी।

Also Read:   दादी के वकील ने पोती को कहा, आई लव यू, फिर क्या हुआ!

कोर्ट का कहना है कि महिला ने महत्‍वपूर्ण जानकारी दबा ली थी। तथ्‍य यह था कि वह एक अन्‍य पुरुष के साथ रह रही थे और वास्‍तव में अपने पति के घर कुछ दिनों के लिए रहने गई थी जब उसकी उसके पाटर्नर से लड़ाई हो गई थी। उसके बाद उसने तलाक की अर्जी दर्ज कराई थी।

Also Read:   पत्नी को सुला दिया जीजा और दो दास्तों के साथ, और फिर...

न्‍यायाधीशों ने का ‘ तलाक की अर्जी दाख‍िल करने से पहले और याचिका के लंब‍ित रहने के दौरान उसका रिश्‍तों को बनए रखने का तरीका क्रूरता और पर‍ित्‍याग के आधार पर तलाक की मांग के लिए हकदान नहीं है। जिस तरह से तथ्‍यों को दबा दिया गया, वह यह जानने के लिए पर्याप्‍त था कि यह मामला झूठ पर आधारित था।’

Also Read:   पानी में पुलिस-पब्लिक की भिड़ंत, मूर्ति विसर्जन रोकने गए इंस्पेक्टर पर हमला
No more articles