जापान की ब्लू फिल्म इंडस्ट्री ने औपचारिक तौर पर माफी मांगी है। इंडस्ट्री पर कुछ इस तरह के आरोप लगाए गए थे कि पोर्न फिल्मों में महिलाओं से जबरन सेक्स सीन कराए जा रहे हैं। जापान में पोर्न फिल्म इंडस्ट्री खरबों रुपये की है।

यह विवाद इस महीने की शुरुआत में खड़ा हुआ जब तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया। इन तीनों पर आरोप हैं कि उन्होंने एक महिला से करीब 100 पोर्न फिल्मों में जबरन काम कराया और यह शोषण कई साल तक चला। इस मामले पर काफी विवाद हो रहा है जिसके बाद फिल्म उद्योग के लोगों ने खुद आगे आकर माफी मांगी है। हालांकि विरोधियों ने इस माफीनामे का स्वागत किया है लेकिन साथ ही कहा है कि बात सिर्फ इतनी छोटी नहीं है बल्कि पूरी इंडस्ट्री में इस तरह की घटनाएं बहुतायत में हो रही हैं।

Also Read:   Japanese forest house is sure to calm your nerves down!

जापान पुलिस ने इसी महीने की शुरुआत में तीन लोगों को गिरफ्तार किया था। इनमें एक टैलेंट एजेंसी मार्क्स जापान का 49 वर्षीय एग्जेक्यूटिव भी था। पुलिस को शक था कि इस एजेंसी ने देश के श्रम कानूनों का उल्लंघन किया है। स्थानीय मीडिया के मुताबिक इस टैलेंट एजेंसी ने एक महिला से जबरन कई पोर्न वीडियो में काम करवाया। महिला को धमकाया गया कि अगर उसने काम नहीं किया तो कॉन्ट्रैक्ट के उल्लंघन के लिए उसे पेनल्टी देनी होगी। उस महिला ने सोचा था कि उसे मॉडलिंग का काम मिलेगा।

Also Read:   14 साल की लड़की ने फेसबुक पर किया केस, चौकाने वाला है कारण

जापान में पोर्नोग्राफी काफी प्रसारित उद्योग है। हालांकि इस उद्योग के स्याह पहलुओं पर बात ना के बराबर होती है। इन्हीं पहलुओं पर रोशनी डालने के मकसद से सामाजिक कार्यकर्ताओं और वकीलों के एक गठजोड़ ने अधिकारियों से आग्रह किया है कि उद्योग में काम करने वाले लोगों के साथ होने वाली ज्यादतियों के खिलाफ सख्त कदम उठाए जाएं। कार्यकर्ताओं का कहना है कि मॉडल्स को धोखे से कॉन्ट्रैक्ट साइन करवाकर फंसाया जाता है और फिर उनके साथ ज्यादतियां होती हैं। कई बार तो इनमें नाबालिग भी होते हैं।

Also Read:   अब तूफान से भी बन सकेगी बिजली!

No more articles