तमिलनाडू में जलीकट्टू को लेकर विवादों का सिलसिला लगातार बढ़ता ही जा रहा है, हालांकि इस खेल पर लगाए गए बैन को लेकर लोगों में आक्रोश है लेकिन हाल ही में सलेम के पास चिन्नामनईएकन्नपलायम गांव में जलीकट्टू खेलने के लिए लोगों ने सांड की जगह लोमड़ी को खेल का मोहरा बनाया। गांव में वन विभाग के अधिकारियों ने गांववालों को इजाजत दे दी कि वे लोमड़ी के साथ भी जलीकट्टू जैसे खेल का आयोजन कर सकते हैं।

Also Read:   अच्छा खाना खिलाऊंगा ये कह कर करता छात्राओं का रेप

हालांकि लोमड़ी, वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के अंतर्गत आती हैं, यह आयोजन वन विभाग के अधिकारियों की देखरेख में हुआ। अधिकारियों ने लोमड़ी का मुंह बांध दिया था ताकि वह इस खेल में हिस्सा ले रहे किसी प्रतिभागी को काट ना ले। सलेम जिले के अलग-अलग इलाको में हर साल कानुम पोंगल के मौके पर फॉक्स जलीकट्टू नाम के इस खेल का आयोजन होता है।

Also Read:   बिन ब्याही मां बनने को बेकरार मौनी रॉय!
1 2
No more articles