इस किले में आज भी दफ्न ने अरबों का खजाना, पाकिस्तान ने भी मांगा था हिस्सा जी हां भारत को यूं ही नहीं सोने की चिड़िया कहा जाता है आज भी भारत में कई ऐसी जगह है जहां अरबों खरबों का खजाना छुपा हुआ है और ये राज आज भी कई खोजी दस्तों को अपनी आओर आकर्षित करता है।

Also Read:   6 important Mughal kings you should know about

कुछ ऐसा ही कहा जाता है जयगढ़ किले के बारे में यहां करोड़ो का नहीं बल्कि अरबों का खजाना दफन है जिसको पाने की चाह ना सिर्फ भारत में ही नही बल्कि पाकिस्तान के दिल में भी है। 1726 में जयसिंह द्वितीय ने जयगढ़ दुर्ग बनवाया था।

Also Read:   आराध्या बुलाने लगी रणवीर को पापा!

देश के इतिहास के काले अध्याय यानी इमरजेंसी ने जयपुर की शान कहे जाने वाले जयगढ़ किले का एक राज भी समेट रखा है। इस महीने उस खजाने की तलाश को 40 साल पूरे हो रहे हैं, जो इंदिरा गांधी ने इस किले में करवाई थी। 10 जून 1976 को शुरू हुई तलाश नवंबर, 1976 में खत्म हुई थी। ऑफिशियली तो यह तलाश नाकामयाब करार दी गई, लेकिन कयास ये भी लगाए जाते हैं कि खजाना मिला और ‘ठिकाने’ भी लगा दिया गया। अंदाजन तब इस खजाने में 128 करोड़ रुपए की दौलत रही होगी। जिसमें पाकिस्तान सरकार ने भी अपना हिस्सा मांगा था।

Also Read:   When a seasoned politician like Kamal Nath quits, bells of bankruptcy of leaders rings for Congress!
1 2 3
No more articles