हाईकोर्ट ने मुंबई फैमिली कोर्ट के उस फैसले को बरकरार रखा है जिसमें कहा गया था कि एक पति संबंध बनाने में असमर्थ पत्नी की जांच की मांग कर सकता है।
फैमिली कोर्ट में दायर एक मामले में पति का दावा है कि उसकी पत्नी ने कभी उसके साथ शारीरिक संबंध नहीं बनाए। इस आधार पर उसने 5 साल पहले तलाक के लिए आवेदन किया था। इस जोड़े की शादी दिसंबर 2010 में हुई थी। उस समय महिला की उम्र जहां 33 साल थी, वही पति की उम्र 38 साल थी। दोनों की यह दूसरी शादी थी।

Also Read:   OMG, ये महिला हाथों से उछाल देती है पुरुषों को

पति द्वारा 2011 में दायर की गई तलाक याचिका में मुंबई फैमिली कोर्ट ने जुलाई में दिए अपने फैसले में महिला से कहा था कि मुंबई के सर जेजे अस्पताल में आपको शारीरिक और मनोवैज्ञानिक जांच करवानी होगी।
मामले की सुनवाई करते हुए फैमिली कोर्ट ने महिला की मेडिकल जांच कराए जाने का आदेश दिया था और यह पता लगाने का निर्देश दिया कि क्या वह महिला ‘नपुंसक’ है।

Also Read:   पत्नी ने खुद का किया अपहरण, पति से मांगी 10 लाख की फिरौती
1 2
No more articles