जींस पहनने की वजह से लड़कियां नहीं बन पातीं मां , लड़कियों के जींस पहनने से गर्भाशय के पास ग्लायकोजिन जमा हो जाता है। इससे ऑपरेशन से डिलेवरी के केस बढ़ रहे हैं। भारतीय जलवायु के अनुसार यहां सूती व ढीले वस्त्र पहनना चाहिए। हमारी बेटियां 18 साल में विवाह योग्य हो जाती हैं लेकिन जो अंतरजातीय विवाह बिना मां-बाप की आज्ञा से होता है, वह नहीं होना चाहिए। जब कोई लड़की ऐसा करती है तो इससे जातिवाद का तनाव बढ़ता है।

Also Read:   सऊदी अरब में भूल कर भी ना करे ये काम वरना.....

ऐसे ही लड़की अगर अपने समाज में परिवार की मर्जी से शादी करे तो 18 साल में कर सकती है लेकिन जब वह अपनी मर्जी से दूसरे समाज में शादी करे तो उसकी 24 वर्ष निर्धारित होना चाहिए। इस उम्र में निर्णय लेने की क्षमता आ जाएगी।

Also Read:   ब्लैकमेल करके विवाहिता के साथ किया गैंगरेप

देश की बहुत से समस्याएं, बेटियों के भागने, तलाक और आत्महत्याएं नहीं होंगी। सब इस समस्या से ग्रस्त हैं। इस विषय को लेकर मैं पीएम को पत्र लिखना चाहता हूं, प्रधानमंत्री इसमें सील लगा देते है तो हमारा काम 50 प्रतिशत अपने आप हो जाएगा। मीडिया इसे जनता तक ले जाए, हम इस विषय को कोर्ट में भी ले जाना चाहते हैं।

Also Read:   इस रेस्टोरेंट के चप्पे-चप्पे में है अमीताभ बच्चन का पहरा
1 2
No more articles