2 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

उन्होंने कहा, इन शावकों ने डमी बाघिन पर लगाई गई निपलों से ऐसे दूध पीना शुरू कर दिया, जैसे वे अपनी मां के स्तन से दूध पीते थे। पाठक ने बताया कि शुरुआत में इन शावकों को वन विभाग के अधिकारियों ने दूध एवं जरूरी दवाइयां दीं, लेकिन बाद मेें निर्णय लिया गया कि इनको मानवी दखल से दूर रखा जाए। उन्होंने कहा, मानव से इन शावकों को दूर रखने के लिए हमने डमी बाघिन बनाकर इन्हें उसके पास रखने का फैसला किया।

Also Read:   See this funny video of a horse playing with a squeaky toy

उन्होंने कहा, आश्चर्य की बात यह है कि ये बाघ शावक डमी बाघिन को अपनी मां समझते हैं। वे न केवल डमी बाघिन पर बोतल, निप्पल एवं अन्य चीजों से बनाये गये स्तनों से दूध पी रहे हैं, बल्कि इसके साथ लाड में चिपकने के साथ-साथ उछल-कूद कर मौज-मस्ती भी कर रहे हैं।

Also Read:   रेप के लिए सिर्फ महिलाएं ज़िम्मेदार- उत्तर प्रदेश पुलिस
2 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

No more articles