Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

आधुनिकता के इस दौर में ये कहा जा रहा है कि पूरी दुनिया धर्मनिरपेक्ष हो रही है। लेकिन पिछले सप्ताह इस्टर के मौके पर ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री डेविड कैमरुन ने इंग्लैंड को क्रिस्चन देश बताया। इसके बाद उनके इस बयान की हर जगह निंदा हुई। क्योंकि महज 30 फीसदी इंग्लैंडवासी खुद को धार्मिक मानते हैं साथ ही लोगों ने ब्रिटेन को धार्मिक राष्ट्र मानने से भी इंकार कर दिया। 53 फीसदी लोगों ने कहा कि वो किसी धर्म में विश्वास नहीं रखते जबकि 13 फीसदी लोगों ने माना कि वो लोग पूरी तरह से नास्तिक हैं।

Also Read:   Why is this pretty little lady angry on the British Prime Minister!

ब्रिटेन में नास्तिकता और मानवता को मिल रही छूट के बावजूद दुनिया में कई देश ऐसे हैं जहां धर्म को नही मानना यानि नास्तिक होना एक गुनाह है। इतना नहीं इन देशों में नास्तिक विचार रखने के लिए लोगों को मौत की सजा भी दी जाती है।

Also Read:   जानिए, किस समय सेक्स करने से होती है चरम सुख की प्राप्ति

अगले पेज पर इन देशों के नाम जानिए

Prev1 of 2
Use your ← → (arrow) keys to browse

No more articles